Tuesday, 12 May 2020

यूँ तो कोई काम नहीं है ---

यूँ  तो कोई काम नहीं है
पर मन को आराम नहीं है

ढल जाए तेरी याद बिना
ऐसी  कोई  शाम नहीं है

लूँ न एक साँस भी ऐसी
जिसमें तेरा नाम नहीं है

चाहत मन की मन के भीतर
गुम है पर गुमनाम नहीं है

कब से नैन लगे हैं दर पर
आया कोई पैगाम नहीं है

- सीमा अग्रवाल

No comments:

Post a Comment